पृष्ठ

शुक्रवार, जुलाई 06, 2012

मंसूरी में डा . उमाशंकर चतुर्वेदी 'कंचन

मंसूरी में डा . उमाशंकर चतुर्वेदी 'कंचन ' एवं डा . सविता चतुर्वेदी 

4 टिप्‍पणियां:

  1. धीरे-धीरे सुंदर चित्रों का पिटारा खोल रहे हैं।:)

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सच यह है कि आप की दृष्टि अच्छी है

      हटाएं
  2. taत्स्वीर तो सुन्दर है ही लेकिन पीछे की बैक ग्राऊँड भी बहुत अच्छी है।शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. निर्मल मन से निर्मला जी आप की शुभकामना

      प्राप्त होने आ गयी है प्यारी -- प्यारी भावना

      है प्रकृति की गोद सुंदर भावना मन मोद सुंदर

      इस लिए उस चित्र पर आप का उद्बोध सुंदर

      हटाएं